सोमवार, 4 सितंबर 2017

अंचल में रही गणेशोत्सव की धूम, हवन आज विसर्जन होगी कल


■ क्षेत्र में दस दिनों तक रही गणेशोत्सव की धूम, जगह जगह विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की छटा बिखरी

चंदखुरी : विश्व प्रसिद्ध कौशिल्या जन्म भूमि चंदखुरी क्षेत्र में दस दिनों से गणेशोत्सव की धूम रहीं, आसपास के गांवो में भगवान गणेश की सुबह शाम विधिवत पूजन के साथ विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की लगातार प्रस्तुति हो रहीं थी। बाल संगम गणेशोत्सव नगरपारा मुनगेसर तथा बजरंग गणेशोत्सव चंदखुरी फार्म के साथ क्षेत्र में आज शाम हवन तथा कल सुबह से प्रतिमा विसर्जन का सिलसिला शुरू हो जायेगा। बाल संगम गणेशोत्सव पंडाल में आज शाम गुंजन वर्मा, मिली, पिहू, चिकू, नवीन के साथ छोटे छोटे बच्चे भारी संख्या में पुजा के लिए एकत्रित हुए थे।

फोटो - बाल संगम गणेशोत्सव नगरपारा मुनगेसर चंदखुरी





मीडिया रिपोर्ट दैनिक समाचार पत्र रायपुर 


शनिवार, 26 अगस्त 2017

सुराजी स्व. अनंतराम बर्छिहा जयंती 28 अगस्त को


चंदखुरी : माता कौशल्या जन्मभूमि चंदखुरी मे जन्मे अंचल के प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व. श्री अनंतराम बर्छिहा जी की 127 वीं जयंती 28 अगस्त सोमवार को है। दोपहर दो बजे से अनंतराम बर्छिहा शासकीय हाईस्कूल चंदखुरी फार्म मे जयंती समारोह आयोजित है, जिसमें  विविध सांस्कृतिक कार्यक्रम स्कूली बच्चों द्वारा प्रस्तुत किया जायेगा। समारोह मे मुख्य अतिथि श्री नवीन मारकंडे विधायक आरंग तथा अध्यक्षता करेगी श्रीमती शारदा देवी वर्मा अध्यक्ष जिला पंचायत रायपुर। साथ में बर्छिहा जी के परिवार से अरूण बर्छिहा, श्रीमती हेमन्त बर्छिहा तथा विद्यालय के सभी शिक्षक कर्मचारी, चंदखुरी क्षेत्र के जन प्रतिनिधि, ग्रामीण भारी संख्या में उपस्थित रहेंगे।

बर्छिहा जी के आंदोलन सन् 1923 को नागपुर मे झंडा सत्याग्रह से शुरू हुआ इस आंदोलन मे अहम् भूमिका निभाई थी। उसी प्रकार सन् 1930 मे आंदोलन का केन्द्र बना "चंदखुरी" के नाम को पुरा देश जानने लगा, बर्छिहा जी के अगुवाई मे चंदखुरी के लोग असहयोग आंदोलन मे शामिल हुए। इसके अलावा समाज सेवा मे भी कार्य किये है विदेशी वस्तुओं को आग के हवाले किये गाँव गाँव जाके छुआछुत जातपात दहेज विरोधी के लिए लोगों को जागरूक किये।

बुधवार, 16 अगस्त 2017

काईट इंजीनियरिंग कालेज में स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहन


■ छत्तीसगढ़ी फिल्म कलाकार योगेश अग्रवाल ने किया ध्वजारोहन

चंदखुरी/रायपुर : कृति इंस्टीट्यूट टेक्नालाजी एंड इंजीनियरिंग (काईट) में स्वतंत्रता दिवस बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाया। कार्यक्रम का आरंभ राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं भारतमाता की फोटो में माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ हुआ। शुरुआत में प्राचार्य डाॅ बी सी जैन ने सभी उपस्थित अतिथि, स्टाफ तथा विद्यार्थियों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दिये। मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ राईस मिल संघ अध्यक्ष तथा दादा साहब फाल्के पुरस्कार विजेता योगेश अग्रवाल ने ध्वजारोहण किया, अपने उद्बोधन में स्वतंत्रता दिवस को पुनीत एवं पावन अवसर बताते हुय कहा आज आजादी का पर्व है एवं राष्ट्रधर्म से बड़ा कोई धर्म नहीं होता।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों में विद्यार्थियों ने गीत कविता नृत्य से सभी का मन मोह लिया। इस दौरान चेयरमेन राजेश अग्रवाल, डायरेक्टर अभिषेक अग्रवाल, जीतेन्द्र नाहर, समीर अग्रवाल, प्रवीण जैन, डा.संज्ञा श्रीवास्तव बी.एड प्राचार्य डा.निधि शुक्ला, केएसबीएम प्राचार्य डा.रूपाली चैधरी, विवेक बघेल, अभिषेक जैन सहित महाविद्यालय के सभी विद्यार्थी, शिक्षक एडमिन स्टाॅफ उपस्थित थे।

फोटो कवरेज 




गुरुवार, 10 अगस्त 2017

छग की पंथी लोक नृत्य दल 14 को गुजरात में देगी प्रस्तुति


■ विश्व प्रसिद्ध उपकार पंथी नृत्य कुटेसर चंदखुरी, कई राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर दे चुके हैं अपनी प्रस्तुति

चंदखुरी : "एक भारत श्रेष्ठ भारत" के अंतर्गत गुजरात में दो दिवसीय "मानसून उत्सव" के नाम से भव्य सांस्कृतिक आयोजन किया गया है। इस कार्यक्रम में देश के अलग अलग राज्यों से प्रतिष्ठित लोक नृत्य दल को आमंत्रित किया है। जिसमें छत्तीसगढ़ से तीन लोक नृत्य दल का चयन हुआ है। 12 को सापूतारा में गेड़ी लोक नृत्य देवगांव नारायणपुर तथा करमा लोक नृत्य सोनपुर खुर्द खपरी अंबिकापुर प्रस्तुति देंगे। 14 अगस्त को बड़ोदरा मे छत्तीसगढ़ के लोकप्रिय उपकार पंथी लोक नृत्य कुटेसर चंदखुरी रायपुर के कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन करेंगे। पंथी नृत्य दल प्रमुख दिनेश जांगड़े ने बताया हमारे दल मे 18 कलाकार है और सभी युवा तथा उर्जावान है। उपकार पंथी लोक नृत्य छत्तीसगढ़ के अलावा देश के विभिन्न राष्ट्रीय अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर अपनी प्रस्तुति दें चुकी है। जांगड़े ने राज्य के कलाकारों को दूसरे राज्य में राष्ट्रीय मंच प्रदान करने के लिए छत्तीसगढ़ संस्कृति विभाग पर्यटन विभाग का आभार व्यक्त किया है।

चंदखुरी में केंडल मार्च शोक सभा कर दी शहीदों को श्रद्धांजलि


■ क्षेत्र के युवाओं मे नक्सलियों के प्रति दिखा आक्रोश, चंदखुरी के आसपास गांवो से भारी संख्या में युवा  श्रद्धांजलि कार्यक्रम में शामिल हुए

चंदखुरी : राजनांदगाँव बकरकट्टा थाना ग्राम भावे के घोडेघाट जंगल में इतवार को नक्सलियों के साथ हुए मुठभेड़ में खरोरा क्षेत्र के उप निरीक्षक युगल किशोर वर्मा और एक आरक्षक कृषलाल साहू शहीद हो गये। इस घटना से खरोरा तथा चंदखुरी क्षेत्र में भी मातम का माहौल है। आज शाम बजरंग चौक चंदखुरी फार्म में श्रद्धांजलि तथा शोक सभा रखा गया। क्षेत्र के युवाओं ने नगर में कैंडल मार्च निकाल कर शहीद वीर जवानों को शोक सभा में मौन धारण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

इस घटना से पुरे प्रदेश तथा चंदखुरी क्षेत्र के युवाओं में जबर आक्रोश दिखा, नक्सलियों के विरोध में जमकर नारे लगाये। इस दौरान छत्तीसगढ़ पुलिस अकादमी के प्रशिक्षक भी मौजूद थे, श्रद्धांजलि कार्यक्रम में चेतन वर्मा, कुबेर वर्मा, हेमंत वर्मा, तारे वर्मा, मनोज वर्मा, कमल नारायण वर्मा, अजित वर्मा, राजेश वर्मा, संदीप टंडन, निखिल वर्मा, दुर्गेश निषाद, कुंदन नायक, गिरवर निषाद, नीरज वर्मा, युवराज साहू, पंकज देवांगन, धर्मेंद्र वर्मा, भुनेश्वर देवांगन, देव हीरा लहरी के साथ भारी संख्या में आसपास गांवो से युवा साथी उपस्थित थे।






मंगलवार, 4 जुलाई 2017

काईट महाविद्यालय में चला वृहद वृक्षारोपण अभियान



काईट महाविद्यालय में चला वृहद वृक्षारोपण अभियान

चंदखुरी : छत्तीसगढ़ विधानसभा समिप नरदहा स्थित काईट इंजीनियरिंग महाविद्यालय परिसर में मंगलवार को वृहद वृक्षारोपण अभियान चलाया गया। हरियर छत्तीसगढ़ के तहत पर्यावरण के प्रति सभी को जागरूक किया तथा प्रोफेसर हरि यादव के नेतृत्व में महाविद्यालय के कर्मचारियों ने डेढ़ सौ से अधिक फलदार छायादार पौधे रोपे। वृक्षारोपण की शुरुआत महाविद्यालय संचालक सौरभ बरड़िया ने जामून का पेड़ लगातार किया, साथ में प्राचार्य बी सी जैन, एच आर प्रतिभा तिवारी, एडमिन हेड राकेश तिवारी, विभागाध्यक्ष विवेक बघेल, अभिषेक जैन तथा स्टाफ में संजीव वर्मा, धर्मेन्द्र डहरिया, जगदीश यादव, उगेश बैस, सोमन साहू, पी के बांधे, देव हीरा लहरी के साथ भारी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे। सभी ने पौधारोपन के बाद उसका संरक्षित तथा सुरक्षित रखने का संकल्प भी लिया।

फोटो कवरेज - देव हीरा लहरी













मंगलवार, 27 जून 2017

बसना मे शहीद वीर नारायण चौरा निर्माण हेतु कौशिल्या जन्म भूमि की पावन माटी एकत्रित


बसना मे शहीद वीर नारायण चौरा निर्माण हेतु कौशिल्या जन्म भूमि की पावन माटी एकत्रित

चंदखुरी : महासमुंद बसना मे हो रहें पुरखा चौरा सिरजन निर्माण में छत्तीसगढ़ के सभी जिलों से देवी देवता तथा महापुरुषों की जन्म भूमि से एक एक मुट्ठी मिट्टी एकत्रित करके बसना ले जाया जायेगा। 6 माह पूर्व बसना चौक में वीर नारायण सिंह की मूर्ति को खंडित तथा तोड़कर फेंक दिया था, जिसके विरोध में छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना ने जबर गोहार आंदोलन में सरकार को चेतावनी दिया था। लेकिन 6 माह बाद मूर्ति स्थापित नहीं किया। शासन की उदासीनता को देखकर यहाँ की मूल निवासियों ने खुद मूर्ति स्थापित करने का निर्णय लिया है। आज छत्तीसगढ़िया क्रान्ति सेना के सेनानियों ने चंदखुरी आरंग स्थित विश्व प्रसिद्ध कौशिल्या माता मंदिर से पावन मिट्टी एकत्रित किया, जिसमें मंदिर समिति सदस्य अश्विनी मारकंडे, सेवक के धिवर, कमल चेलक तथा देव हीरा लहरी उपस्थित थे। एकत्रित पावन मिट्टी को सोनाखान भवन से 24 जून को ससम्मान ले जाया जायेगा।

फोटो कवरेज - देव हीरा लहरी 









मीडिया रिपोर्ट 
दैनिक समाचार पत्र रायपुर