मंगलवार, 11 अगस्त 2015

हरेलीे उत्सव


।। हरेली उत्सव ।। 

छत्तीसगढ़ म पहली बार 
क्रांति सेना करे हे करार। 
जम्मो सेनानी मिलजुल के 
मनावत हन हरेलीे तिहार।। 

दुरूग भिलाई अऊ छत्तीसगढ़ीया 
जल्दी आगु आवव ग हमर नगरिहा। 
हरेली तिहार ल मिल के मनाना हे 
रिसाली रावण भाठा म सकलाना हे।। 

हमर संस्कृति अऊ हमर धरोहर 
एक समान हवय हम सबो बर। 
गेड़ी म चढ़के कुदबो नाचबो 
बस्तर नाचा के ताल ल मिलाबो।। 

सुवागत हे हम सब के तिहार म 
छ.क्रांति सेना के मया दुलार म।
आपमन के आना सौभाग्य हमार 
अगोरा रहि होत बिहनिया ले तुहार।। 

🚩 छत्तीसगढ़ीया क्रांति सेना 🚩