शुक्रवार, 14 अगस्त 2015

बीर शहीद


।। बीर शहीद ।।

आज फेर ओ दिन याद आवत हे
मोर मन ओ बीर डाहर जावत हे
अंतस मा दुख पीरा ह समावत हे
वो बीर  शहीद के सुरता आवत हे

मोर जवान भाई मन मिलके आवव
ओकर खुन के करजा  चुकावव
चरण म करबो फूल माला अर्पित
जेन रहिसे हमर देश बर समर्पित

मोर बुढ़ी दाई के आँखी ह पथरागे
आस अऊ अगोरा म जिनगी सिरागे
बबा के रो रो के होगे हे बुरा हाल
घर में जम्मो मनखे के होगे काल

अब हमन कोनो ल नई गवाना हे
अऊ माटी के करजा ल चुकाना हे
सत्य अहिंसा के रददा म जाना हे
हमर राज अऊ देश ल आगु बढाना हे

"स्वतंत्रता दिवस के गाडा गाडा बधाई"

✏ देव लहरी
चंदखुरी फार्म रायपुर
लोककला एवं साहित्यीक
संस्था सिरजन रायपुर