गुरुवार, 17 सितंबर 2015

छत्तीसगढ़ म पधारे हे गणराज


छत्तीसगढ़ म पधारे हे गणराज 

छत्तीसगढ़ म पधारे हे गणपति महराज
संग म मुसुआ के सवारी करे हवय आज।
जम्मो डाहर जयकारा के आवत हे आवाज
गली मोहल्ला गांव शहर बिराजत हे गणराज।

छत्तीसगढ़ म होगे हवय लंबोदर के आगाज
पंडाल चबूतरा सब होगे हवय ताज साज।
हमर दिल म करथस मोरिया तै हमेशा राज
सुख समृद्धि देथस सिद्ध करथस कामकाज।

रिद्धि सिद्धी तिजहारिन ल देख लागे मुस्कावन
ठेठरी खुरमी बरा सोंहारी खाके लागे मनभावन।
दुनो कहे इंहा ल छोड़ के अब कभु नई जावन
विनायक स्वामी ल दुनो मिलके लागे मनावन।

भोले बाबा पार्वती माता घलो इंहा आवत हे
महादेव घाट सोमनाथ देख भारी मुस्कावत हे।
पार्वती माई संवागा लेबर गोलबाजार जावत हे
अपन कैलाश पुरी ल छत्तीसगढ़ म बसावत हे।

हे गजानंद हे लंबोदर मुसुआ के सवारी
हमन ल देवत रहिबे दया मया पारी पारी।
सुख समृद्धि अन्न धन देवत रहिबे भारी
एकदंत हे विनायक हमन हवन आभारी।

रचनाकार - देव हीरा लहरी
चंदखुरी फार्म रायपुर 
मोबा. - 9770330338 

पत्र पत्रिका मे प्रकाशन 

1) राष्ट्रीय दैनिक अखबार 
पायनियर रायपुर संस्करण 
सोमवार 12 सितम्बर 2016