बुधवार, 16 दिसंबर 2015

जय सतनाम


जय सतनाम
▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪
छत्तीसगढ़ के माटी म
छाता पहाड़ के घाटी म
धुमी रमाय तै गुरू बाबा
आंधी तुफान बरसाती म

                                गिरऊदपुरी के माटी चंदन
अमरऊतीन दाई ल हे बंदन
सत के जोत जलाय बाबा
माथ नवाव करव मै वंदन

छुआछूत मिटाये जात-पात
सब समाज बर लडे़ दिन रात
महिमा महान हे गुरू बाबा
नियाव के करे तै गोठ बात

गांव गांव लगे हे जैत खाम
उठ बिहनिया करव परनाम
बताय मानखे मनखे समान
घर घर म बसे हे सतनाम

दिसंबर महिना जयंती मनाबो
घर दुवार अंगना ल साजबो
मिलजुर पंथी नाचबो गाबो
सत के सादा झंडा फहराबो

आवव संगी आवव संगवारी
करबो जयंती के तियारी
नाचबो गाबो पालो चढ़ाबो
मिलके दीदी बहिनी महतारी
▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪▪
रचना - देव हीरा लहरी
चंदखुरी फार्म रायपुर
मोबा. :- 9770330338