शुक्रवार, 15 जुलाई 2016

गरमी ले राहत मिलीस

गरमी ले राहत मिलीस

बड़ दिन बाद आज 
थोरकुन सुकुन मिलीस
आज संझा जब करा 
अऊ पानी जमके गिरीस।

          बरसा के मोती कस बुंद 
          तपतप भुईयां म परीस
          भुजाएं तन मन ल कुछ 
          राहत के ठण्डक मिलीस।

आज के मउसम हा 
अब्बड़ मसत सुहाना हे
अईसे लागथे जईसे 
ये दिल मोर दिवाना हे।

          मोर मयारू चंदा ह 
          झुम झुम के नाचत हे
          आसाढ़ अऊ सावन के 
          मनभावन गीत गावत हे।

लकलकाय  गरमी म 
जुड़ सहिन लागीस
अईसे लगथे अब बरसा 
के मउसम ह आगीस।

          चंदा ह मोर संग चिखला
          पानी म  झुम के नाचीस
          का बतावव संगी संगवारी 
          अब्बड मजा आगीस।

कईसे लागीस....

रचना - देव हीरा लहरी
चंदखुरी फारम रइपुर 
संपर्क - 09770330338

पत्र पत्रिका मे प्रकाशन 

1) राष्ट्रीय दैनिक अखबार 
दैनिक भास्कर बिलासपुर संस्करण 
बुधवार 13 जुलाई 2016